बता मेरे यार सुदामा रे, भाई घने दिनों में आया || Lyrics || pdf || song mp3 download

  ** बता मेरे यार सुदामा रे, भाई घने दिनों में आया**



भाई घने दिनों में आया

बालक था रे जब आया करता        

रोज़ खेल के जाया करता            
रे बालक था रे जब आया करता     
रोज़ खेल के जाया करता             
हुए के तकरार सुदामा रे              
भाई घने दिनों में आया              
बता मेरे यार सुदामा रे               
भाई घने दिनों में आया   

 you reading on bhakti rath

            
मानने सुना दे कुटुम्ब कहानी    

क्यूँ कर पद गी ठोकर खानी       
रे मानने सुना दे कुटुम्ब कहानी  
क्यूँ कर पद गी ठोकर खानी       
तोते की मार सुदामा रे               
भाई घने दिनों में आया              
बता मेरे यार सुदामा रे               
भाई घने दिनों में आया      

 you reading on bhakti rath

         
सब बच्चों का हाल सुना दे         

मिस्रणी की बात बता दे            
हो सब बच्चों का हाल सुना दे     
मिस्रणी की बात बता दे            
रे क्यूँ गया हार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया
बता मेरे यार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया

 you reading on bhakti rath


चाहिए तारे तनने पहलाम आना
इतना दुख नही पड़ता थाना रे
चाहिए तारे तनने पहलाम आना
इतना दुख नही पड़ता थाना
क्यूँ भुल्लय प्यार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया
बता मेरे यार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया

 you reading on bhakti rath


आइब भी आ गया ठीक बख़त पे
आजा बैठ जा मेरे तखत पे
रे आइब भी आ गया ठीक बख़त पे
आजा बैठ जा मेरे तखत पे
हो जिगरी यार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया
बता मेरे यार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया

 you reading on bhakti rath


आजा भगत छ्चाटी पे ला लून
आइब बता तनने कड़े बिता लून
हो आजा भगत छ्चाटी पे ला लून
आइब बता तनने कड़े बिता लून
करूँ साहूकार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया
बता मेरे यार सुदामा रे
भाई घने दिनों में आया
घने दिनों में आया
घने दिनों में आया
भाई घने दिनों में आया

 you reading on bhakti rath

Post a Comment

0 Comments