Ads Here

Monday, January 4, 2021

जमशेदपुर में रुका भारत का विजय रथ

 जमशेदपुर में रुका भारत का विजय रथ

तेज गेंदबाज राणा नवेद की शानदार गेंदबाजी की बदौलत पाकिस्तान ने भारत को तीसरे वनडे मैच में १०६ रनों से हरा दिया। सीरीज में ०-२ से पिछड़ रही पाकिस्तानी टीम को कीनन की पिच पर टॉस जीतने का पूरा फायदा मिला। पहले बल्लेबाजी करते हुए उसने ओपनर सलमान बट्ट के शानदार शतक की मदद से ३१९ का विशाल स्कोर बनाया। मैन ऑफ द मैच नवेद ने २७ रन देकर छह विकेट चटकाए।विशाल स्कोर का पीछा करने उतरी भारतीय टीम बुरी तरह से लडख़ड़ा कर निर्धारित ५० ओवरों से ८.२ ओवर पहले ही महज २१३ रन पर सिमट गई। सीरीज में ०-२ से पिछड़ रही पाकिस्तानी टीम के लिए इस मैच में ‘करो या मरो’ की स्थिति थी। सलमान बट्ट के बाद नवेद ने लगातार हार रही अपनी टीम की जीत की राह तैयार की। पाकिस्तानी गेंदबाजों का सिरदर्द बने सहवाग आज महज दो रन पर नवेद की गेंद पर आफरीदी को कैच थमा बैठे और सचिन भी छह रन बनाने के बाद आउट हो गए। इसके बाद भारतीय सं5ाल ही नहीं पाए। कप्तान सौरव गांगुली का बुरा दौर जमशेदपुर में भी खत्म नहीं हुआ। स्थानीय हीरो महेंद्र सिंह धोनी अच्छी शुरुआत के बावजूद बड़ा स्कोर करने में नाकाम रहे। स्टार बल्लेबाजों से भरी टीम का दुर्भाग्य रहा कि सबसे अधिक ६४ रन (दो चौके चार छ1के) इरफान पठान ने बनाए और जहीर २७ रन का योगदान करने के बाद बिना आउट हुए लौटे।(विस्तृत खबर खेल पेज पर)

कादिर जैसा परमाणु नेटवर्क बहुत बड़ा खतरा : अमेरिका

अमेरिकी स्वतंत्र आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पाकिस्तानी परमाणु विज्ञानी अ4दुल कादिर खान का परमाणु प्रसार नेटवर्क कई देशों में फैला हुआ था। परमाणु कालाबाजारी का ऐसा नेटवर्क अमेरिका और शेष दुनिया के लिए बहुत बड़ा खतरा है।अमेरिकी राष्ट्रपति से संबद्ध ‘द कमीशन ऑन इंटेलीजेंस कैपेबिलिटीज ऑफ यूनाइटेड स्टेटस रिगार्डिंग वीपन्स ऑफ मास डिस्ट्र1शन’ नामक आयोग ने अपनी हालिया रिपोर्ट में कहा है कि खान जैसा परमाणु नेटवर्क अमेरिका के लिए बहुत बड़ा खतरा है। एटमी तस्करी के इस नेटवर्क का फायदा अमेरिका के दुश्मनों को मिला। सीआईए के पूर्व निदेशक जॉर्ज टेनेट द्वारा दिए गए उस बयान को इस रिपोर्ट में प्रमुखता से छापा गया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान परमाणु कार्यक्रम के पिता खान ने परमाणु कालाबाजारी का सूत्रपात किया। इसका फायदा अमेरिका के कई दुश्मनों को मिला। रिपोर्ट में कहा गया कि खान ने कई छदम कंपनियों, एजेंटों और विज्ञानियों के जरिए इस नेटवर्क को दुनिया के बड़े हिस्से में फैला रखा था। एक तरह से खान परमाणु उत्पादों और तकनीकी के व्यापारी बन गए थे।

टेनेट को यह कहते हुए उद्धृत किया गया है कि खान नेटवर्क से लीबिया सहित कई देशों को परमाणु उपकरण और तकनीकी मुहैया कराई गई थी। खान नेटवर्क के माध्यम से लीबिया को परमाणु सेंट्री3यूज तकनीकी मुहैया कराई गई थी। आयोग की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि ब्रिटिश खुफिया एजेंसियों की मदद से सीआईए का कार्रवाई निदेशालय खान नेटवर्क को भेदने की क्षमता रखता था। सीआईए ने खान नेटवर्क के कई पहलुओं का पता लगा लिया था। रिपोर्ट के मुताबिक खान जैसे नेटवर्क को अकेले कोई खुफिया एजेंसी भेद नहीं सकती। इसके लिए जरूरी है कि दूसरे देशों की खुफिया एजेंसियों की भी मदद ली जाए।

अब फ्री नहीं बजेगा 6यूजिक!

1या आप अपने कार्यालय में कंप्यूटर पर काम करते हुए 6यूजिक सुनते हैं या डांस पार्टियों का आयोजन करते हैं। यदि हां तो सावधान! अब आपका फ्री 6यूजिक सुनना बंद। अपना पसंदीदा 6यूजिक सुनने के लिए आपको फीस अदा करनी होगी। बैंकों में 5ाी अब काम के दौरान बिना लाइसेंस कर्णप्रिय धुनें सुनाई नहीं देंगी। इंडियन 6यूजिक इंडस्ट्री का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था फोनोग्राफिक परफारमेंस लिमिटेड ने अब फ्री 6यूजिक का आनंद उठाने वालों पर लगाम कसनी शुरू कर दी है।शहर के होटलों, डिस्को, डीजे, मोबाइल कंपनियों को प्री रिकार्डिड 6यूजिक बजाने के लिए लाइसेंस लेने को कहा गया है। शहर के डिस्को और होटल मालिकों में संस्था द्वारा लगाई जाने वाली 5ाारी 5ारकम लाइसेंस फीस को लेकर नाराजगी है। शहर के होटलों और रेस्तराओं को तो अ5ाी तक यह 5ाी मालूम नहीं कि वह लाइसेंस किस प्रकार लें। फोनोग्राफिक परफारमेंस लिमिटेड द्वारा एसी रेस्तराओं से २५०० से ७५०० रुपये, नॉन एसी रेस्तराओं से १५०० से ३५०० रुपये, पांच सितारा होटलों से ३० से ३५ हजार, चार सितारा होटलों से २१ हजार, तीन सितारा होटलों से १४ हजार, दो सितारा होटलों से १० हजार और नॉन स्टार होटलों से ७५०० रुपये सालाना लाइसेंस फीस की मांग की जा रही है। यहां तक कि आफिसों को 5ाी इसके लिए मोटी फीस चुकानी होगी। सौ वर्ग फुट एरिया की दुकानों से १ हजार रुपये, २०० वर्ग फुट की दुकानों से १७५० रुपये सालाना तक लाइसेंस फीस ली जाएगी। विवाह शादियों, धार्मिक कार्यक्रमों और प्राइवेट पार्टी में कैसेट और सीडी प्लेयर से 6यूजिक बजाने को इस लाइसेंस से मु1त र2ाा गया है। हाल ही में पंजाबी 6यूजिक इंडस्ट्री कलाकारों को रॉयल्टी दिलाने और पायरेसी रोकने के लिए पंजाब के जाने माने कलाकारों, 6यूजिक कंपनियों ने इंडियन 6यूजिक इंडस्ट्री की साउंड रिकॉर्र्डिंग से जुड़ी कॅापीराइट संस्था फोनोग्राफिक परफॉरमेंस लिमिटेड के साथ गठजोड़ किया था। इंडियन 6यूजिक इंडस्ट्री के अध्यक्ष विजय लैजरस ने बताया कि इस गठजोड़ से विश्व 5ार में छाई पंजाबी 6यूजिक इंडस्ट्री को पायरेसी से बचाने और रायल्टी की वसूली में सहायता मिलेगी। विजय ने कहा कि देश 5ार में 6यूजिक कंपनियों को पायरेसी से जबरदस्त नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसलिए इस प्रकार के जांच अ5िायान जरूरी है। चंडीगढ़ और पंजाब की चीमा 6यूजिक, एसएम, वाइटल 6यूजिक, नटराज आडियो, आरडीए1स 6यूजिक ने पीपीएल के साथ गठजोड़ किया था। पीपीएल की तरफ से बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर अहसान सिद्दकी होटलों और रेस्तराओं की जांच कर रहे हैं।

पीपीएल के सीईओ विपुल प्रधान के अनुसार पीपीएल के सदस्यों में सारेगामा, टिप्स, वीनस, सोनी, यूनिवर्सल, वर्जिन, आदित्य 6यूजिक, टाइ6स 6यूजिक आदि शामिल हैं। पीपीएल अपने सदस्यों की साउंड रिकॉर्र्डिंग, 6यूजिक वीडियो को डिस्को, रेस्तरां, स्टेज शो, कार्यालयों, जिम, ज्यूकबॉ1स आदि के अलावा टेलीविजन, रेडियो इंटरनेट और मीडिया में प्रयोग के लिए लाइसेंसिंग के पक्ष पर नजर र2ाता है। बिना लाइसेंस 6यूजिक बजाने वालों के 2िालाफ पीपीएल को कानूनी नोटिस जारी करने का अधिकार है।

जांच शुरू चुपके-चुपके!

शहर में फोनोग्राफिक परफारमेंस लिमिटेड ने जांच अ5िायान शुरू किया है, लेकिन इसके बारे में न तो पुलिस को जानकारी है और न ही प्रशासन को। आईजी राजेश कुमार के अनुसार उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि कोई संस्था शहर के होटलों और रेस्तराओं में 6यूजिक के कापीराइट के लिए लाइसेंस की जांच कर रही है। उनके अनुसार इससे पूर्व 5ाी शहर में होने वाली पायरेसी को लेकर 6यूजिक कंपनियों के प्रतिनिधि छापे मारते रहे हैं।

No comments:

Post a Comment