Ads Here

Tuesday, January 5, 2021

बिपाशा का नया प्रेमी

 

बिपाशा का नया प्रेमी

आज की तारीख में बिपाशा बसु सेलेबल स्टार हैं और वह इस स्थिति में भी पहुंच गई हैं कि निर्माताओं से थोड़ी-बहुत अपनी बात मनवा सकती हैं। जहां तक अपनी बात मनवाने की बात है, कल तक यह बंगाली बाला अपने पूर्व प्रेमी डिनो मोरिया के लिए सिफारिशें करती थीं। लेकिन प्रेम का यह अध्याय बंद हो गया है, तो यही काम अब वह लेटेस्ट प्रेमी जॉन अब्राहम के लिए कर रही हैं। खबर है कि पिछले दिनों उन्होंने जॉन को अपने साथ हीरो बनाने के लिए एक निर्माता-निर्देशक से सिफारिशें कीं। लेकिन यह निर्माता प1का प्रोफेशनल निकला और उसने बिपाशा की मिन्नत पर उलटा सवाल दाग दिया कि जॉन के कारण फिल्म बिकने की वह गांरटी लेती हैं तो उन्हें साइन कर लेता हूं। निर्माता के इस सवाल पर बिपाशा अपना सा मुंह लेकर लौट गईं। अब पता नहीं उन्होंने जॉन को यह बात बताई होगी या इस सचाई को खुद ही पचा गईं।

4लैक ऐंड व्हाईट

एक जमाने में लड़कियों के मनपसंद हीरो देवानंद को 4लैक कोट और 4लैक पैंट पहनने की मनाही हो गई थी, 1योंकि उस ग्लैमर से होने वाली बीमारी लाइलाज बन चुकी थी। आज एक बार फिर 4लैक युवाओं का पसंदीदा चुनाव बन गया है।

4लैक ऐंड वाइट का जमाना एक बार फि र आ गया है या यूं कहें कि 4लैक कभी गया ही नहीं, तो गलत न होगा। आजकल 4लैक पर एंब्राइडरी के साथ ही 3लोरल प्रिंट, सीक्विंस का काम, हैंड पेंटिंग साथ ही हैंडलूम में भी 4लैक काफी चलन में है।

4लैक टॉप हो या स्लीवलेस चोलीकट 4लाउज, काले रंग में ग्लैमरस रूप देखते ही बनता है। अगर आप कॉलेज छात्रा हैं, तो आप कम से कम फ्रेंड्स पार्टी में तो यह प्रयोग कर सकती हैं। इसमें दो राय नहीं कि तरह-तरह की 4लैक वन पीस भी ड्रेसेज अनायास ही सबको अपनी ओर आकर्षित करती हैं। बात चाहे स्लीवलेस, हॉल्टर नेक या बैकलेस की की जाए, इनमें ग्लैमर के साथ ही हुस्न का जादू खूब चलता है। साथ ही 4लैक लहंगा-चोली अगर जॉर्जेट या क्रेप में बनवाई जाए और उस पर सलमा-सितारे लगवाएं या सीक्विंस का काम कराएं, तो यकीन मानिए किसी परी से कम नजर नहीं आएंगी आप, बशर्ते आपका रंग गोरा हो। 4लैक रंग की प्लेन शिफॉन, जार्जेट, प्रिंटेड कॉटन की साडिय़ां इंटैले1च्युअल्स की पसंद जरूर बनेंगी। अगर आप भी 4लैक की शौकीन हैं, तो बेहतर होगा कि किसी शो रूम में जा कर एक नजर दौड़ाएं और अपनी पसंद को अंजाम दें। 4लैक लेदर में लगी फर की फ्रिल्स भी देखते ही बनती हैं। साथ ही अगर आप चाहें, तो वन पीस शॉर्ट डे्रेस भी ले सकती हैं, यह देखने में ग्लैमरस तो लगती ही है साथ ही आपको स्मार्ट भी दिखाती है।

पटरी पर दौड़ता कैरियर

रेलवे में नौकरी किसी भी युवा को उसकी मंजिल तक पहुंचाती है। भारतीय रेल सेवा में आपकी कैरियर यात्रा कितनी शुभ और सफल होगी जानिए अमर आनंद से

भारत में सबसे पहली रेल केवल ३५ किमी. का रास्ता ही तय करती थी। यह केवल मुंबई से ठाणे तक ही चलाई गई थी। लेकिन लंबे समय के साथ भारतीय रेल केरास्ते भी लंबे होते गए। तब से अब तक इसने विकास के कई आयामों को छुआ है। एशिया का सबसे बड़ा और विश्व का दूसरा सबसे बड़ा रेलव नेटवर्क होने का गौरव प्राप्त करने वाली भारतीय रेल अब ६२.३ हजार किलोमीटर के फासले तय करती है। जितने लंबे इसके रास्ते हुए हैं, उतने ही ज्यादा इसमें अवसर भी बने हैं। यह प्रतिभाशाली हजारों युवकों को रोजगार देने में सक्षम है। कैरियर की नजर से इस से1टर में इतने मौके हैं कि आप अपना भविष्य आसानी से संवार सकें।

इतने बड़े ऑर्गेनाइजेशन को संभालना और उसे ठीक तरह से चलाना बहुत ही कठिन और बड़ा काम है। इसको सही अंजाम देने के लिए कई विभागों को साथ लेकर चलना पड़ता है। भारतीय रेल को नौ खंडों में बांटा गया है। हर खंड का अपना एक अलग नेटवर्क है। इसका मुखिया होता है महाप्रबंधक।  इंजीनियरिंग (सिविल, इले1िट्रकल व मैकेनिकल), रेलवे ऑपरेशन सिग्नल टेलीक6युनिकेशन, कमर्शियल एकाउंट्स व फाइनेंस, सि1योरिटी ऐंड विजिलेंस, पर्सोनल व प4िलक रिलेशन, मेडिकल और मेटीरियल्स आदि रेलवे के कई विभाग होते हैं।

भारतीय रेलवे में रोजगार से संबंधित दो ऑर्गेनाइजेशन होते हैं- रेल इंडिया टे1िनकल और इकोनॉमिक सर्विस। रेल इंडिया टे1िनकल के माध्यम से चुने जाने पर तकनीकी पदों पर निुयुक्ति होती है, जबकि इकोनॉमिक सर्विस से बाकी पदों पर।

भारतीय रेल के प्रशिक्षण संस्थान जोन के हिसाब से होते हैं। अधिकारियों की ट्रेनिंग रेलवे बोर्ड के तहत कराई जाती है। रेलवे ऑपरेशन से जुड़े सभी तरह के इंजीनियरों के लिए ट्रेनिंग सेंटर होते हैं। रेलवे स्टाफ कॉलेज में रेलवे से जुड़े कई प्रशासनिक व दूसरे कोर्स कराए जाते हैं।

No comments:

Post a Comment